उद्देश्य: आपकी आत्मा की भावुक यात्रा. एक अलग लेंस के ज़रिये जीवन को कैसे अनुभव किया जाए यह सीखना (Hindi Edition)

Read Online उद्देश्य: आपकी आत्मा की भावुक यात्रा. एक अलग लेंस के ज़रिये जीवन को कैसे अनुभव किया जाए यह सीखना (Hindi Edition) PDF ePub fb2 ebook

“क्या आपको यह लगता है कि आप जीवन में खो गये हैं? क्या आपकी भावनाएँ कभी-कभी आपको विव्हल कर देती हैं? क्या आपको यह अचरज होता है कि आपके साथ बुरी चीज़ें क्यों होती हैं?”विभिन्न पृष्ठभूमि से आये पाठकों के लिए लिखी गई इस पुस्तक में हमारे जीवन की भावुक यात्रा की एक मनो-आध्यात्मिक जांच की गई है और हमें यह इस प्रश्न का उत्तर देने में सहायता करती है कि “मैं यहाँ क्यों हूँ?” जब हम जीवन की गहन भावनाओं को अनु...

Paperback: 332 pages
Publisher: Rick Lindal (October 5, 2015)
Language: Hindi
ISBN-10: 9780993790454
ISBN-13: 978-0993790454
ASIN: 0993790453
Product Dimensions: 6 x 0.7 x 9 inches
Amazon Rank: 11255735
Format: PDF ePub Text TXT fb2 ebook

All are excellent, as they start out with each word and then build up the complexity of the skill needed to finish the problem. As a future teacher, I plan to keep these in case I am in an early elementary classroom. The whole effect is comperable to a Bill Bryson type of memoir, his travel books, his biography. Watch the dawn of the atomic age. book उद्देश्य: आपकी आत्मा की भावुक यात्रा. एक अलग लेंस के ज़रिये जीवन को कैसे अनुभव किया जाए यह सीखना (Hindi Edition) Pdf Epub. Helpful but not essential. I also really liked the ethnic diversity and the sensitive, intelligent way that that was written. I really enjoyed this book, I love knitting and any excuse to talk about knitting was fun for me. All the designs (and they're mostly all sweaters) are what they claim to befeminine knits. The marina bar became distant and the whole "Caribbean high" kind of vanished away. It is not everything and other companies are needed to retain them. Additional Contributors Include Stefano Santucci, Virginio De Bernardinis, Lorenzo Bonomo And Many Others.
  • Rick Lindal pdf
  • Rick Lindal ebooks
  • 9780993790454 epub
  • Self-Help epub books
  • 978-0993790454 epub


Download    Premium Mirror



तब उन अवश्यम्भावी उतार और चढ़ाव से निपटने के लिए यह एक पुस्तिका है. एक नैदानिक मनोवैज्ञानिक के रूप में 30 साल के अनुभव से प्राप्त चिकित्सीय अंतर्दृष्टि के साथ, अपनी आत्मकथात्मक यात्रा पर आधारित इस पुस्तक में, डा० लिंडल आपको अपने जीवन को एक अलग लेंस से देखने के लिए आमंत्रित करते हैं. जबकि यह एक आंशिक काल्पनिक कहानी है. जो शिक्षाएँ वे आत्म-अन्वेषण और बुद्धि पर प्रदान करते हैं वह आपको अपने अस्तित्व को समझने में सहायता करेगा.डा० लिंडल की शिक्षाएँ एक ‘आसानी-से-पढ़ने वाली’ कहानी में गुंथी हुई हैं जो रिक्की के रोमान्चों का अनुसरण करती हैं, जिसकी आत्मा आध्यात्मिक आयाम से धरती पर जीवनकाल की यात्रा के लिए निकली है. समय के साथ-साथ रिक्की को भौतिक अस्तित्व और हम कैसे इसके अंदर अपनी वास्तविकता की रचना करते हैं का ज्ञान होता है. उसे इस बारे में भी ज्ञान होता है कि हम नकारात्मक भावनाओं को अनुभव करने का विकल्प क्यों चुनते हैं, साथ ही उन परिस्थितियाँ के बारे में और उन्हें रोकने के तरीक़ों के बारे में भी अनुभव होता है जो लोगों को पाप कार्य करने की ओर ले जाती हैं.